हार्डवेयर क्या है और हार्डवेयर का आविष्कार किसने किया था

हार्डवेयर क्या है : अगर आप कंप्यूटर में थोड़ी भी रूचि है तो आपने Hardware और Software इन दोनों शब्दों के बारे में जरूर से सुना होगा। क्योंकि ये दोनों ही कंप्यूटर के पार्ट्स है, इन दोनों पार्ट्स के बिना Computer का कोई भी अस्तित्व नहीं है।

आप ऐसा कह सकते है की जैसे बिना शरीर और मन का इंसान। अगर आप Hardware के बारे में नहीं जानते है तो आज का यह लेख आपके लिए है, क्योंकि इस लेख में विस्तार से Hardware Kya Hai और ये कैसे काम करता है इसकी पूरी जानकारी देंगे। 

Hardware Kya Hai – हार्डवेयर क्या है?

हार्डवेयर कंप्यूटर के पार्ट होते है, ये कंप्यूटर के लिए बहुत जरूरी है इसके बिना कंप्यूटर का कोई भी उपयोग करना संभव नहीं है। हार्डवेयर का उपयोग तभी होता है जब सबसे पहले सॉफ्टवेयर का यूज किया जाए। हार्डवेयर कंप्यूटर का एक बॉडी पार्ट होता है।

अगर हम इसको बड़े ही आसान शब्दों में समझें तो हार्डवेयर एक तरह से physical device का एक कलेक्शन है। इसका उपयोग सभी नोटिफिकेशन को प्रोसेस्ड करना और साथ में स्टोर करना होता है।

हार्डवेयर का आविष्कार किसने किया था?

आप सभी को बता देना चाहते है की चार्ल्स बैबेज जो एक अंग्रेजी मैकेनिकल इंजीनियर और पॉलीमैथ, ने प्रोग्रामयोग्य कंप्यूटर आइडिया की शुरुवात की है। इन्हें कंप्यूटर का जनक भी मन चाहता है। उन्होंने 19वीं सदी की शुरुआत में mechanical computer की शुरुवात ही थी, इसलिए हार्डवेयर का आविष्कार भी चार्ल्स बैबेज ने किया था।

हार्डवेयर किसे कहते हैं? 

कंप्यूटर का वह हिस्सा जिसे हम देख व स्पर्श यानि टच कर सकते है और जो कंप्यूटर में डाटा को इनपुट करने के साथ कंप्यूटर से आउटपुट डाटा को स्टोर करने के लिए यूज किया जाता है उसे ही कंप्यूटर का हार्डवेयर कहते है। 

हार्डवेयर कैसे काम करता है – हार्डवेयर के कार्य

कंप्यूटर के सभी हार्डवेयर के अलग – अलग अपने काम होते है, इसका मतलब ये है की सबको अपना काम मालूम होता है, आइये इसको विस्तार रूप से जानते है। 

  • Input Device: इनपुट डिवाइस का काम कंप्यूटर को आदेश देना होता है। 
  • Output Device: कंप्यूटर के जरिये दिए गए आदेश को जो रिसीव करते है और हमे दिखते है उसे ही आउटपुट डिवाइस कहते है जैसे मॉनिटर और स्पीकर। 
  • CPU: आप सभी के जानकारी के लिए बता देना चाहते है की CPU का काम इनपुट डिवाइस के आदेश को रिसीव करना होता और इसके बाद उसको प्रोसेस करके अनुकूल परिणाम को आउटपुट पर दर्शाता है।
  • RAM: यहां कंप्यूटर में प्राइमरी मेमोरी के रूप में होती हैं। कंप्यूटर में प्रजेंट टाइम में प्रोग्राम रन करते हैं उनका डाटा इसी में ही स्टोर होता है।
  • MotherBoard: मदरबोर्ड से कंप्यूटर के सभी पार्ट्स कनेक्ट होते हैं।
  • Hard Disk और ROM: यह कंप्यूटर की परमानेंट स्टोरेज होती है इसमें डाटा तब तक सेफ रहता है जब तक की उसे खुद से कंप्यूटर से डिलीट न कर दिया जाय। 

हार्डवेयर के प्रकार – Hardware Kitne Prakar Ke Hote Hain

  1. Input Device 
  2. Output device 
  3. System Unit 
  4. Internal Device 
  5. Communication Device

हार्डवेयर का इतिहास

अगर हम हार्डवेयर की इतिहास की बात करें तो चार्ल्स बैबेज जो एक अंग्रेजी मैकेनिकल इंजीनियर और पॉलीमैथ थी उन्होंने प्रोग्रामयोग्य कंप्यूटर आइडिया की शुरुवात की थी। इन्हें कंप्यूटर का जनक भी माना जाता है।

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर में क्या अंतर है ?

अगर हम सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बिच अंतर् की बात करें तो हार्डवेयर वास्तविक actual devices है जबकि सॉफ्टवेयर उपकरणों को नियंत्रण और निर्देश देता है। 

ये भी पढ़े: सेमीकंडक्टर क्या है

Conclusion – हार्डवेयर क्या है

तो आज के इस लेख में हमने जाना की हार्डवेयर क्या होता है इसके क्या कार्य होते है और भी बहुत कुछ अगर आपको ये लेख अच्छा लगा हो तो हमे कमेंट में जरूर से बातये और इसी तरह के एजुकेशन से जुड़ी जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट को जरूर से फॉलो करे। 

Leave a Comment