सॉफ्टवेयर क्या है और सबसे पहला सॉफ्टवेयर किसने बनाया था

सॉफ्टवेयर क्या है: जैसा कि आप सब जानते ही हैं कि हमारे मोबाइल और कंप्यूटर का इस्तेमाल करने के लिए किसी ने किसी सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है बिना सॉफ्टवेयर के मोबाइल और कंप्यूटर एक खाली बॉक्स के समान होते हैं बिना किसी सॉफ्टवेयर के यहां मोबाइल और कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के लिए एक बहुत महत्व रखता है। 

सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को लिए दिए जाने वाले निर्देशों का एक समूह होता है जो कि कंप्यूटर को कार्य करने की अनुमति देता है अगर आप मोबाइल या कंप्यूटर उपयोग करते है तो सॉफ्टवेयर के बारे में जानना आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है आज के इस लेख में हम आपको Software Kya Hota Hai, और सॉफ्टवेयर का आविष्कार किसने किया था इसके बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है। 

Software Kya Hota Hai – सॉफ्टवेयर क्या है?

सॉफ्टवेयर हमारे द्वारा मोबाइल या कंप्यूटर को दिए जाने वाले निर्देश होते हैं जिसे कंप्यूटर या मोबाइल कार्य करते हैं और हमें परिणाम देते हैं सॉफ्टवेयर कंप्यूटर और मोबाइल के लिए एक महत्वपूर्ण भाग होता है इसके बिना कंप्यूटर या मोबाइल किसी काम के नहीं होते हैं बिना सॉफ्टवेयर के मोबाइल या कंप्यूटर कोई काम नहीं कर सकते हैं। 

मोबाइल या कंप्यूटर में दो भाग होते हैं जिनमें एक हार्डवेयर होता है जिन्हें हम छू सकते हैं और दूसरा सॉफ्टवेयर होता है जिन्हें हम छू नहीं सकते हैं लेकिन उन्हें महसूस कर सकते हैं। मोबाइल या कंप्यूटर में अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग सॉफ्टवेयर मौजूद होते हैं इन्हीं के आधार पर मोबाइल और कंप्यूटर कार्य करते हैं।

सॉफ्टवेयर का आविष्कार किसने किया? 

सॉफ्टवेयर मानव इतिहास का एक सबसे बड़ा आविष्कार माना जाता है तथा सूचना के क्षेत्र में यह एक बहुत ही बड़ा परिवर्तन है सॉफ्टवेयर के आने से हमारी जिंदगी बदल सी गई है हम सभी चीजों को सॉफ्टवेयर की सहायता से कर सकते हैं 19वीं शताब्दी में चार्ल्स बैबेज द्वारा सॉफ्टवेयर की खोज की गई थी। इन्हें ही सॉफ्टवेयर का संस्थापक या जनक माना जाता है। 

लेकिन वर्तमान में अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग सॉफ्टवेयर का निर्माण किया जा रहा है। सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को चलाने और उपयोग करने की अनुमति देता है। सॉफ्टवेयर की हमारे जीवन में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 

सॉफ्टवेयर के प्रकार 

अलग-अलग उपयोग के आधार पर सॉफ्टवेयर अलग-अलग होते हैं लेकिन इन्हें मुख्यतः दो रूपो में बांटा गया है जिनकी जानकारी निम्न प्रकार है… 

  • सिस्टम सॉफ्टवेयर

सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के मूल कार्य को करने का काम करते हैं इसमें ऑपरेटिंग सिस्टम, डिवाइस ड्राइवर और यूटिलिटी जैसे सॉफ्टवेयर शामिल होते हैं। 

  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर 

उपयोगकर्ताओं के कार्यों के आधार पर एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर अलग-अलग होते हैं इन सॉफ्टवेयर का निर्माण इसी विशिष्ट कार्यों को अनुमति देने या उन्हें पूरा करने के लिए बनाया जाता है। इसमें वेब ब्राउज़र, वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम और मनोरंजन प्रोग्राम आदि सॉफ्टवेयर शामिल होते हैं। 

सॉफ्टवेयर काम कैसे करता है? 

जैसा कि आपको बताया गया है कि सॉफ्टवेयर दो प्रकार के होते हैं उन्हें अलग-अलग काम करने के तरीके से बनाया जाता है। सॉफ्टवेयर काम करने से पहले रैम मेमोरी में लोड होता है और उसके बाद कंप्यूटर को कार्य करने के लिए अनुमति देता है। 

जैसे हम कंप्यूटर को किसी भी कार्य करने के लिए निर्देश देते हैं तो वह सबसे पहले सीपीयू के माध्यम से होता हुआ ऑपरेटिंग सिस्टम तक जाता है फिर ऑपरेटिंग सिस्टम उसे कार्य को ऑपरेट करने का निर्देश देता है और उसके बाद इंटरनेट के माध्यम से सीपीयू द्वारा उस कार्य को पूरा किया जाता है और हमें इच्छित परिणाम प्रदर्शित किए जाते हैं। 

सॉफ्टवेयर का इतिहास 

19वीं शताब्दी में एडा लवलेश के द्वारा सबसे पहले सॉफ्टवेयर का प्रोग्राम लिखा गया था और इसे चार्ल्स बबेज द्वारा बनाए गए एनालिटिकल इंजन के द्वारा प्रकाशित किया गया था। सॉफ्टवेयर शब्द का निर्माण सबसे पहले जॉन टर्की के द्वारा किया गया था, जो की एक गणितीय थे। लेकिन सॉफ्टवेयर का सिद्धांत सर्वप्रथम एलन ट्यूरिंग के द्वारा दिया गया था। 

सबसे पहले सॉफ्टवेयर का नाम क्या है? 

सबसे पहले सॉफ्टवेयर का प्रोग्राम एडा लवलेश के द्वारा लिखा गया था जिसे बरनौली संख्याओं की गणना करने के लिए बनाया गया था लेकिन यह पूरी तरह से डिजाइन नहीं किया गया था। लेकिन इसके बाद ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर का निर्माण किया गया जो की कंप्यूटर को चालू करने का काम करता है। इसके बिना आप किसी भी कंप्यूटर को चालू नहीं कर सकते हैं। इसी पर मोबाइल और कंप्यूटर कार्य करते हैं।

ये भी पढ़े: हार्डवेयर क्या है

अंतिम शब्द – software kya hai? 

सॉफ्टवेयर कंप्यूटर तथा यूजर के मध्य एक सेतु का काम करते हैं क्योंकि सॉफ्टवेयर यूजर के द्वारा दिए जाने वाले निर्देश को कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम तक पहुंचाता है। सॉफ्टवेयर दो प्रकार के होते हैं जैसे की जानकारी आपको इस लेख में बताई गई है। 

Leave a Comment